logo1 logo2
Tirthnkar_Mother_dream
tirthnkar_detail-2

सुकुमालनंदी जी महाराज का जन्म 29 अगस्तो 1978 को नावां (नागौर) में हुआ। मात्र 15 वर्ष की आयु में 25 जुलाई, 1993 को क्षुल्लनक दीक्षा ली और फिर अगले ही वर्ष 15 मार्च 1994 को मालपुरा में मुनि दीक्षा ग्रहण कर ली। इसके बाद अनेक गूढ़ सिद्धांत, अध्या्त्मक, व्या करण सम्बरन्धी ग्रंथ कंठस्थम कर गुरु द्वारा आपको 9 मई, 2004 को उपाध्या्य पद प्राप्तं हुआ और 13 फरवरी 2005 को आचार्य पद की प्राप्ति हुई जिसकी अनुमोदना 20 मार्च 2005 को छावनी (इंदौर) में हुई। आचार्य पद की प्राप्ति के बाद देश भर में सैकड़ों पंचकल्यााणक महोत्सहव, वेदी प्रतिष्ठा , मंदिर निर्माण, वृहद विधान, शिविर आदि धार्मिक अनुष्ठा्नों को सानंद निर्विघ्न सम्प1न्न कराकर धर्म प्रभावना जागृत करने का प्रयास किया है।

संक्षिप्त परिचय

जन्म: २९ अगस्त १९७८
जन्म स्थान : नावां (नागौर)
क्षुल्लक दीक्षा : 25 जुलाई, 1993
मुनि दीक्षा तिथि : 15 मार्च 1994
दीक्षा गुरु : आचार्य श्री १०८ पद्मनंदी जी महाराज
मुनि दीक्षा स्थल : मालपुरा
उपाध्याय पद तिथि: 9 मई, 2004
आचार्य पद तिथि: 13 फरवरी 2005
विशेषता : www.surpriseworld.org

आचार्य श्री १०८ आदिसागर जी महाराज (अंकलीकर)
आचार्य श्री १०८ महावीर कीर्ति जी महाराज
गणाधिपति श्री कुन्थु सागर जी महाराज
आचार्य श्री १०८ पद्मनंदी जी महाराज
आचार्य श्री १०८ सुकुमालनंदी जी महाराज



Aacharya Shri 108 Sukumalnandi Ji

 

  1. Date Of Birth: 29 August 1978
  2. Place Of Birth: Nagur(Rajasthan.
  3. Father Name : Shri Komalchand
  4. Mother Name:Shrimati Mathuradevi
  5. Muni Deeksha :Muni Deeksha on 31st January, 1980
  6. Place of Deeksha: Bala Vehat, U.p.
  7. Deeksha Guru: Acharya Shree Padamnandi Ji



Aacharya Shri 108 Aadisagar Ji Maharaj (Anklikar)
Aacharya Shri 108 Mahaveer Kirti Ji Maharaj
Gandharacharya Shri 108 Kunthu Sagar Ji Maharaj
Aacharya Shri 108 Padamnandi Ji Maharaj
Aacharya Shri 108 Sukumalnandi Ji Maharaj