मुनि श्री १०८ आर्जव सागरजी महाराज

संक्षिप्त परिचय

जन्म: ११ -९-१९६७
जन्म  नाम: पारसचंद जैन
जन्म स्थान:: फुटेरा कलां , जिला - दमोह (मध्य प्रदेश
माता का नाम: श्रीमती मायाबाई जैन
पिता का नाम: श्री शिखरचंद जैन
शिक्षा : बी.ए. (प्रथम वर्ष )
ब्रम्हचर्य व्रत : ११ -१२-१९८४,अतिशय क्षेत्र पनागर जी
क्षुल्लक दीक्षा : ८-११-१९८५ ,सिद्ध क्षेत्र आहार जी 
ऐलक दीक्षा: १०-७-१९८७
ऐलक दीक्षा स्थान : अतिशय क्षेत्र थूवोनजी
मुनि दीक्षा:   ३१ मार्च १९८८
मुनि दीक्षा स्थान :  सिद्ध क्षेत्र सोनागिरी जी
दीक्षा गुरू: संत शिरोमणी आचार्य श्री विद्यासागर जी
विशेष : धर्मभावना शतक , जैनागम संस्कार , बचपन का संस्कार,सम्यकध्यान शतक , तिर्थोदय काव्य , नेक जीवन , परमार्थ साधना , जैन धर्म में कर्म व्यवस्था, जीवन संस्कार अनेक अष्टक एवं हिंदी , तमिल , कन्नड़, मराठी में कविताएँ |

गुरु
आचार्य श्री १०८ विद्या सागर जी महाराज

Muni Shri 108 Arjav Sagar Ji Maharaj

 


Brief Introduction

Birth Date 11-01-1967
Birth Place Futera Kala ,Distrci-Damoh,MP.
Birth Name Paras Chand Jain
Mother's Name Shrimati Mayabai Jain
Father's Name Shri Shikhar Chnad Jain
Brhamcharya Vrat : 11-12-1984,Atishay Kshetra Panagar
7 th Praima Vrat : 1985,Siddha Kshetra Aahar Ji
Kshullak Diksha : 8-11-1985,Siddha Kshetra Aahar Ji
Brhamcharya Vrat : 10-07-1987,Atishay Kshetra Thuvon Ji
Muni Diksha 31 march 1988
Muni Diksha Place Siddha Kshetra Sonagir Ji
Muni Diksha Guru Aacharya Shri 108 Vidyasagar Ji Maharaj
Published Books : Dhrambhavna Shatak,Jaingam Sanskaar ,Bachpan Kesanskaar,Parmarth Saar Etc.


Aacharya
Aacharya Shri 108 Vidya Sagar Ji Maharaj